कैसे बने Share Market का बाप ? | Warren Buffet Biography in Hindi | Motivational Documentary

Namaskar Dosto, Ajj apko bataunga वॉरेन बफेट ki सफलता की कहानी, Kaise unhone stock market me kadam rakha aur king ban gaye. Mera vada he apse, Ye kahani apko bahot motivate karegi aur aap bhi apni Investing journey me kuchh naya sikhenge.

रिटायरमेंट कैलकुलेटर डाउनलोड करने के लिए इस आर्टिकल के सबसे निचे जाये , और वह पर दी गयी लिंक से डायरेक्ट डाउनलोड करे अपने मोबाइल और कंप्यूटर पे। 
 
 एक ऐसे सख्श है जिन्होंने इन्वेस्टिंग को ही अपना पेशा बना लिया था आज हम उन्ही सख्श के बारे में बताने वाले है। यह सख्श और कोई नहीं बल्कि Warren Buffett है, इन्वेस्टिंग किंग के नाम से पहचाने जाने वाले Warren Buffett ने सिर्फ इन्वेस्टिंग के दम पर इतने पैसे कमाए की आज वह दुनिया से सबसे अमीर व्यक्तिओ की सूचि में शामिल है। लेकिन फिर भी हैरत की बात तो ये है की इतने अमीर होने के बाद भी बहुत ही Simple Lifestyle को फॉलो करते है और अपने ऐसे ही Lifestyle के कारण ही वो अधिकतर चर्चा में भी रहते है। उनकी यही खासियत लोगो में यही सवाल पैदा करती है की आखिर उन्होंने इतनी Wealth कैसे बनाई ? 
Warren Buffett का पूरा नाम Warren Edward Buffett है, उनका जन्म 30 August 1930 में Omaha Nebraska में हुआ था। Warren Buffett के पिता Howard Buffett एक Stock Broker थे सायद स्टॉक्स और इन्वेस्टमेंट में Warren Buffett का इंटरेस्ट उनके पिता से ही आया होगा। जब की उनकी माँ एक हाउस वाइफ थी। 

 जब Warren Buffett का जन्म हुआ तब उस समय अमेरिका में Financial Crisis चल रही थी जिसकी वजह से Warren Buffett के पिता का बिज़नेस भी ठप पड़ गया था और जब Warren Buffett एक साल के हुए तब उनके माता-पिता गरीबी के ज़िंदगी गुजारने लगे थे Warren Buffett का बचपन गरीबी में बिता हुआ था उन्होंने देखा था की कैसे उनकी माँ उनके पिता को एक टाइम का खाना देने के लिए खुद खाना नहीं खाती थी। ताकि Warren के पिता को पूरा दिन मेहनत करने के बाद थोड़ा खाना मिल सके।  

अपने घर के इन हालातो और गरीबी को देखकर Warren ने खुद से ये वादा किया था की या तो मैं 35 साल की उम्र में एक बिलिनियर बन जाऊंगा और या फिर एक ऊँची बिल्डिंग पर जा कर छलांग मार लूंगा। वैसे तो ये प्रॉमिस एक छोटे बच्चे के लिए बहुत ही ज्यादा Extreme थी लेकिन Warren Buffett को बचपन से ही खुद पर पूरा भरोषा था। Warren Buffett को बचपन से ही किताबे पढ़ने का बहुत सौक था। बहुत ही कम उम्र से ही Warren ने किताबे पढ़ना शुरू कर दिया था। 

एक बार वारेन बुफेट ने देखा कि एक आदमी उनके घर के सामने लगी मशीन से कोल्ड ड्रिंक ले रहा है और उस मशीन में कोल्ड ड्रिंक के ढक्कन पड़े हुए हैं. Warren Buffet हर हफ्ते कोल्ड ड्रिंक के ढक्कन इकट्ठा करते और देखते की सबसे अधिक बार कौन सी कोल्ड ड्रिंक लोग पीते हैं. ढकनो को काउंट करने के बाद उन्हें पता चला की कोका कोला को सबसे अधिक लोग पसंद करते हैं और पीते हैं. बहुत सालों बाद अपने इन्वेस्टिंग के कैरियर में उन्होंने इसी नॉलेज की वजह से कोका कोला का बहुत सारा शेयर भी खरीदे थे. जब Warren Buffet 10 साल के थे तो Benson Library में बुक पढ़ रहे थे वहां उन्हें एक बुक दिखाई दिया जिसका नाम था ” One Thousand ways to make $1000 “. इस बुक में पैसे कमाने की काफी तरीके थे. लेकिन उन सभी आईडिया में एक आईडिया Warren को बहुत पसंद आया और वो था Compounding…. जिनके अनुसार अगर आप 100 डॉलर से एक वेंडिंग मशीन खरीदते है और फिर उस वेंडिंग मशीन को बेच कर पैसे कमाते है और उस सेल का कुछ हिस्सा वापस वेंडिंग मशीन खरीदने में लगा देते है। तो ऐसे कुछ समय बाद बहुत सारे वेंडिंग मशीन खरीद सकते है। 

Compounding का तरीका इसी तरह से काम करता है. वैसे तो यह तरीका पैसे कमाने का काफी समय लेने वाला तरीका है लेकिन इसे लम्बे समय में काफी ज्यादा प्रॉफिट होती है।  Warren को ये आईडिया इतना अच्छा लगा की उन्होंने इस आईडिया को ही अपना मूल मंत्र बना लिया था यहां तक की वह यह कैलकुलेट करने लगे की दुनिया का हर इंसान उनकी वेइंग मशीन यूज़ करने लगे तो वह कितना पैसा कमाएंगे. Warren Buffet बचपन से ही काफी चीजें बेचना स्टार्ट कर दिए थे जैसे उन्होंने कोका कोला बेचे, चिंगम बेचे , मैगजीन बेचे, यहां तक की सुबह 4:00 उठकर न्यूज़ पेपर लोगों को दिए. उन्हें बचपन से ही पैसा बनाने की गेम में मजा आने लगा.  

 Warren Buffett कहते है की बचपन में ही उन्हें पैसे कमाने के गेम में मज़ा आने लगा था उन्होंने उसके बाद कई अलग-अलग बिज़नेस किये और पैसा बनाना शुरू कर दिया काफी मेहनत करने के बाद जिस कम्पनी में Warren ने इन्वेस्ट किया था उस कम्पनी की मारकेट प्राइस काफी कम हो गयी थी जिसकी वजह से Warren Buffett काफी दुखी हो गए। लेकिन फिर जब उन्होंने देखा की शेयर की Price बढ़कर के 40 डॉलर हो गयी तब उन्होंने Shares को बेच दिया लेकिन तब कुछ समय बाद उन्हें अहसास हुआ की उन्होंने कितनी बड़ी गलती कर दी है। क्योकि कुछ समय बाद उस शेयर की कीमत काफी बढ़ गयी थी. 

Warren Buffett कहते है की “Take Time For All Things… Great Haste Make Great Waste” मतलब जल्दी का काम सैतान का होता है इसीलिए हमेशा सोच समझकर काम करना चाहिए।  Apne, yeh kahani to suni hogi, एक बार राजा के पास एक पुजारी आता है और वह राजा से दान मांगता है. राजा घमंडी था बोलता है तुम जितना दान चाहोगे हम उतना देंगे. बोलो तुम्हें दान में क्या चाहिए. तब पुजारी ने कहा चेस में 64 खाने होते हैं मुझे तुम पहले खाने में एक चावल का दाना दे दो फिर अगले बॉक्स में डबल कर दो यानी दो चावल के साथ, फिर नेक्स्ट बार दूसरे खाने में उसे डबल कर दो यानी 8 चावल के साथ यानी 64 सेक्शन तक करते रहो. जितने चावल के दाने टोटल आएंगे उतना ही मुझे चाहिए. इस पर राजा ने कहा बस इतना ही, तुम इतने नादान हो इससे अच्छा होता की हमसे हीरे, मोती और जेवरात मांगते. लेकिन राजा के सैनिकों ने जैसे ही 64 सेक्शन खाने में चावल के दाने डालने लगे, तो 64 सेक्शन खाने में चावल की इतनी ज्यादा दाने थे की राजा को अपना सारा धन और दौलत बेचना पड़ा. Warren Buffet इस स्टोरी से इतने प्रभावित हुए हैं की अपने कंपाउंडिंग को, कोर फिलासफी मानने लगे.  Warren Buffet ne Harvard Business School में अपने डैड के कहने पर अप्लाई किया. 

Harvard के इंटरव्यूअर ने शिकागो में 10 मिनट का इंटरव्यू लिया और उनसे कहा भूल जाओ तुम्हारी Harvard Business School में एडमिशन नहीं हो सकती. फाइनेंस में इंट्रेस्ट होने की वजह से Warren Buffett ने इसी फील्ड में पढ़ाई की Warren Buffet ने अपनी पढ़ाई Wharton School Of University Of Pennsylvania से की थी। इसके बाद Warren अपनी Graduation पूरी करने के लिए University Of Nebraska चले गए थे जब Warren Buffet सिर्फ 20 साल के थे तब उन्होंने अपनी Graduation पूरी कर ली थी। Graduation पूरी करने के बाद उनके पास काफी अच्छे खासे पैसे थे। अपनी Graduation पूरी कर लेने के बाद भी Warren Buffett ने Normal लोगो की तरह जॉब करना सुरु नहीं किया बल्कि उन्होंने सोचा की मैं अपने पैसे को इन्वेस्ट करूंगा और बहुत सारे पैसे कमाऊंगा। 

 Warren Buffet ने जो बहुत ही बड़े कंसेप्ट सीखे थे unme se ek है वैल्यू इन्वेस्टमेंट. किसी भी कंपनी को उसकी market वैल्यू pe ही खरीदनी चाहिए न की प्रजेंट मार्केट वैल्यू के se खरीदनी चाहिए. जैसे कि आपको पता है यह पेन का दाम आज ₹10 है कल उसी पेन को ₹20 में बेची जाती है तो उसे खरीदना नहीं चाहिए बल्कि वेट करना चाहिए. यदि आपको वही पेन मार्केट में ₹5 मिलती है तो उसे खरीद लेनी चाहिए जैसे ही मार्केट दोबारा उस पेन को ₹10 में बेच रही है तो आपको भी खरीदा हुआ पेन मार्केट में बेच देनी चाहिए और प्रॉफिट कमा लेनी चाहिए. यही फार्मूला वारेन बुफेट ने बड़ी कंपनियों की शेयर खरीदने में उपयोग की और बहुत सारा पैसा कमाए.  1956 में वारेन बुफेट ने 25 साल की उम्र में खुद की एक पार्टनरशिप फर्म खोली. जिसमें 7 पार्टनर थे ज्यादातर पार्टनर उनके रिलेटिव थे. सिर्फ 6 साल यानी 1965 में $105000 को अपने पार्टनरशिप फर्म की मदद से 7 मिलियन डॉलर में कन्वर्ट कर दिए. जिसमें से 1 मिलियन डॉलर वारेन बुफेट के थे.

32 साल की उम्र में ही एक मिलीयनर बन चुके थे. उनको ऊंची बिल्डिंग से कूदना नहीं पड़ा क्योंकि बचपन में ही प्रॉमिस किए थे. मार्केट में शेयर का प्राइस बढ़ रहा था और सस्ते शेयर खरीदना मुश्किल हो रहा था, इसीलिए वारेन बुफेट को अपना पार्टनरशिप फर्म को बंद करना पड़ा.  Warren Buffet को पब्लिक स्पीकिंग से डर लगता था वो कहते थे कि यदि मैं मंच पर चला जाऊं तो मुझे लगता था कि उल्टी कर दूंगा सर चकराने लगते थे. उन्होंने न्यूज़ में देखा कि Dale Carnegie की 1 पब्लिक स्पीकिंग कोर्स आ रही है और उन्होंने ज्वाइन कर लिया. इससे उनको लाइफ में बहुत बड़ा जंप मिला. वारेन बुफेट कहते हैं कि उनको उस कोर्स से इतना ज्यादा फायदा हुआ की अपने गर्लफ्रेंड को सादी के लिए प्रपोज कर दी और उनसे शादी कर ली.  

 Finance और Investing के बारे में काफी अच्छी जानकारी होने के वजह से Warren Buffett काफी अच्छी कम्पनी में इन्वेस्ट कर रहे थे जिससे उन्हें काफी फायदा भी मिल रहा था। अपनी Carrier की शुरुआत में Warren Buffett हमेशा ऐसी Company को चुनते थे जिसकी मार्किट प्राइस खराब मैनेजमेंट की वजह से कम हो गयी हो। ऐसी कम्पनियो की Shares खरीदकर Warren Buffett उन्हें फिर बाद में बेच देते थे। Warren Buffet ने अपनी इस Idea से कई सारी Company में इन्वेस्ट किया था जिसे उन्हें काफी फायदा भी मिला। लेकिन जब उनकी मुलाकात Benjamin Graham से हुयी तब उनके सोचने का पूरा नज़रिया ही बदल गया क्योकि Benjamin Graham ने उन्हें बताया की ऐसी कम्पनियो को चुनना जिनका मैनेजमेंट खराब है उससे अच्छा ये होगा की तुम ऐसी कम्पनियो का चुनाव करो जो बहुत ही अच्छी और अपनी ग्राहकों को बहुत ही अच्छी सर्विस देती हो। 

इससे यह होगा की तुम बाद में उस Company से बहुत ही ज्यादा Profit कमा पाओगे। अपने Mentor के बात को Warren Buffett ने ध्यान में रखा और उनके बताये गए तरिके को यूज़ करना सुरु कर दिया। फिर देखते ही देखते उनका बिज़नेस काफी अच्छा चलने लगा इसी Technic का यूज़ करते हुए Warren Buffett ने Berkshire Hathway नामक कम्पनी पर अपना सारा पैसा इन्वेस्ट कर दिया था और धीरे-धीरे इस कम्पनी ने ग्रो करना भी सुरु कर दिया था। जिसके बाद ये कम्पनी इतनी ज्यादा ग्रो हुयी जिससे Warren Buffett को बहुत ही ज्यादा Profit मिला और साथ ही साथ Warren Buffett ने इस कम्पनी के CEO भी बन गए और आज भी वह इस कम्पनी के CEO है। अपने काबिलियत और मेहनत के दम पर Warren Buffett 30 साल की उम्र में एक मिलियर बन गए थे। जिससे उनकी Promise भी पूरी हो गयी थी।  

 मिलियर बनने के बाद Warren ने अपनी Girlfriend सुजैन से शादी कर ली थी और शादी के तुरंत बाद उन्होंने एक छोटा सा घर ख़रीदा था। पहले के मुकाबले आज उनके पास बहुत ही ज्यादा पैसा है।लेकिन आज भी Warren Buffett अपने पुराने घर में ही रहना पसंद करते है  Warren Buffett और बिलगेट्स आज बहुत ही अच्छे दोस्त है लेकिन वो हमेशा से ही ऐसा नहीं थे। पहले बिलगेट्स को ऐसा लगता था Warren Buffett उनसे काफी अलग है जिनसे उनकी बाते उनसे मैच नहीं होंगी। इसलिए जब बिलगेट्स और Warren Buffett की Meeting Fixed हुयी तो बिलगेट्स ने मेटिंग का समय सिर्फ 10 Minute रखा था लेकिन जब Meeting सुरु हुयी तब वह मीटिंग 10 घंटे तक चली थी और मीटिंग ख़त्म होने के बाद बिलगेट्स Warren Buffett के मुरीद हो गए अब Warren Buffett काफी अच्छे दोस्त है।  दुनिया के सबसे आमिर आदमी होने के बाद भी Warren Buffett बहुत ही साधारण ज़िंदगी जीते है साथ ही साथ उन्होंने अपने कमाई का बहुत ही बड़ा हिस्सा Donate कर दिया है उनके इतने बड़े काम के लिए उन्हें अमेरिका का सबसे महान आदमी के नागरिक से भी सम्मानित किया गया है।  

 वर्तमान समय में Warren Buffett का Net Worth 10500 करोड़ US Dollar है। लेकिन Warren Buffett ने यह निश्चय किया है की वह अपने Income का 99 % Donate कर देंगे क्योकि उनके According इतनी ज्यादा Wealth उनके बच्चो के लिए किसी काम की नहीं है और Wealth तभी अच्छी लगती है जब वो खुद से कमाया जाये। इस तरह के विचार ही Warren Buffett को दुनिया से सबसे आमिर आदमियों से अलग बनाते है।  वारेन बुफेट आज भी एक नार्मल लाइफ जीते हैं वह एक मिडिल क्लास घर में रहते हैं. एक मिडिल क्लास खाना खाते हैं और एक middle-class गाड़ी चलाते हैं.  

 Berkshrire Hathaway के शुरू में 25 एम्प्लाइज थे बेशक आज भी बहुत सारे एम्प्लाइज है लेकिन आज भी शुरू के 25 एम्प्लाइज उनके साथ काम करते है. वारेन बुफेट कहते हैं अपने हर एक एंपलाई को और एक हर शेयर होल्डर को एक पाटनर मानता हूं एक फैमिली मेंबर की तरह उनके साथ व्यवहार करता हूं वह हमेशा बोलते हैं कि मैं बहुत खुश हूं. मैं अपनी लाइफ में वह गेम खेल रहा हूं जिससे मुझे प्यार हो, पैसों से मुझे प्यार नहीं है बल्कि इन्वेस्टिंग के गेम से प्यार है. अगर मुझे पैसों से प्यार होता तो महंगी गाड़ी खरीदता लेकिन पैसा सब कुछ नहीं होता है.  

डाउनलोड रिटायरमेंट कैलकुलेटर: Click Here


 उम्मीद करता हूं आपको यह स्टोरी अच्छी लगी होगी यदि अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें, Video ko like kare और कमेंट करके बताएं की आपने इस कहानी से क्या सिखा.   
और नया पुराने